विवाह का रजिस्ट्रेशन

 

विवाह पंजीकरण (Marriage Registration) एक कानूनी प्रक्रिया होती है, जिसके लिए आर्य समाज मंदिर आपको शुरुआत से ही सब कुछ समझने और उसे पूरा करने में मदद करता है। आर्य समाज द्वारा आप दो प्रकार से अपने विवाह के लिए पंजीकरण करा सकते हैं

 

  • पहला, विवाह के लिए कार्यालय में पहले पंजीकरण कराएं और फिर आर्य समाज मंदिर में विवाह करे
  • दूसरा, कि पहले आर्य समाज मंदिर में विवाह करें और उसके बाद फिर विवाह को पंजीकृत कराएं।

 

यदि आप पहली प्रक्रिया के साथ विवाह करना चाहते हैं, तो उसके लिए आपको पहले अपने निकट के पंजीयक कार्यालय (Registrar Office) में जाकर विवाह के लिए आवेदन करना होता है। जिसके बाद फिर संबंधित कार्यालय से आपके घर पर एक नोटिस भेजा जाता है।

 

जिसके बाद आप दस्तावेजों (Documents) और गवाहों (Witnesses) के साथ कार्यालय आते हैं, और फिर विवाह संपन्न कराई जाती है। इस सारी प्रक्रिया में लगभग 30 से 40 दिन का समय लग जाता है। और उसके बाद ही लड़का लड़की अपने विवाह को आर्य समाज मंदिर में सभी रीतिरिवाजों और वैदिक मंत्रों के साथ पूरा करा सकते हैं।

 

वहीं दूसरी प्रक्रिया में, पहले आप आर्य समाज मंदिर में विवाह कर सकते हैं और उसके बाद आर्य समाज मंदिर आपको आपके विवाह का प्रमाण पात्र देता है. जिसके बाद आप उस विवाह प्रमाण पत्र को कानूनी रूप से किसी भी विवाह पंजीयक कार्यालय (Marriage Registrar Office) में जाकर पंजीकृत करा सकते हैं. यह प्रक्रिया पहली प्रक्रिया से सरल व उत्तम मानी गयी है.

 

आर्य समाज मंदिर आपके समय और आपकी सुविधाओं का पूरा ध्यान रखता है, इसलिए आप फ़ोन के द्वारा आर्य समाज मंदिर में विवाह की सारी प्रक्रिया के विषय में पहले ही जान सकते हैं और अपने विवाह का दिन व तारीख भी चुन सकते हैं और उसके बाद कुछ जरूरी कागजात जैसे- आयु प्रमाण पत्र (Age Certificate), निवास प्रमाण पत्र (Residence Certificate), लड़के और लड़की की चार चार पासपोर्ट साइज फोटो व दो गवाहों के साथ आर्य समाज मंदिर में आकर अपना विवाह सम्पन्न करा सकते हैं.

 

आर्य समाज मंदिर 365 दिन खुला रहता है और यहां प्रत्येक दिन विवाह, हवन व पूजा कराया जाता है, इसलिए आप यदि किसी कारण से फ़ोन से या पहले से अपनी विवाह की तारीख व दिन नहीं दर्ज करा पाए हैं, तो इस स्थिति में भी आर्य समाज मंदिर आपका स्वागत करता है और उसी समय सभी जरूरी औपचारिकताएं (formalities) पूरी करा कर, आपके विवाह संस्कार को पूर्ण कराता है. जिसके बाद आपको आपका विवाह प्रमाण पत्र भी मिलता है, जो पूरे भारत देश में मान्य है.

 

विवाह के लिए आपको रजिस्ट्रार कार्यालय में जिन जिन जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ती है वह कुछ इस प्रकार हैं जैसे-

 

  • 10 वीं कक्षा का मूल प्रमाण पत्र (Original Certificate of 10th class)
  • आर्य समाज मंदिर का मूल विवाह प्रमाण पत्र (Original Marriage certificate of Arya Samaj Mandir)
  • आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड जिसमे कार्बन कॉपी नहीं कार्य नहीं करती है (Aadhar Card or Voter ID Card (No Carbon Copy))
  • 4 -4 पासपोर्ट साइज की लड़के व लड़की की फोटो (4 Passport Size Photos of Each (Bride & Groom))
  • एक शादी का फोटो (One Marriage Photo)
  • गवाहों के आईडी प्रमाण (ID Proofs of Witnesses)

 

सार्वजनिक रजिस्टर (Public Register) में जोड़े के विवाह की पूरी जानकारी रखी जाती हैं, जिसके बाद उन्हें कानूनन विवाहित पति-पत्नी मान लिया जाता है। इसमें आप किसी भी राष्ट्रीयता, धर्म या जाति से हो सकते हैं; हम आपको पवित्र अग्नि की उपस्थिति में सभी हिंदू रीति-रिवाजों के साथ विवाह करने में मदद करते हैं, जिससे आप अपने जीवन के अगले बेहतर चरण के लिए धन्य हो जाते हैं।